July 13, 2024 |

BREAKING NEWS

सीएम मोहन यादव बताएं: तो क्या संपूर्ण मध्यप्रदेश रेत माफिया का गढ़ बन गया

होशंगाबाद-हरदा के बाद बैतूल सहित संपूर्ण मध्यप्रदेश के संदेह के घेरे में

Hriday Bhoomi 24

हृदयभूमि स्पेशल रिपोर्ट – गजेंद्र सिंह राजपूत एवं प्रदीप शर्मा 

इंट्रो : क्या मध्यप्रदेश की शांत और पावन भूमि भी अब बिहार व अन्य राज्यों की तर्ज पर तमाम माफियाओं का गढ़ बनती जा रही है। यह हम नहीं कहते, मगर घटनाओं और गतिविधियों के साक्षी बयां करते हैं कि अब नर्मदापुरम संभाग की इंच-इंच भूमि और रकबा भू-माफिया और रेत माफिया की कुटिल निगाहों से नहीं बचा है। याद रहे अब तक हमारी चैनल और साईट पर इस संभाग के होशंगाबाद व हरदा जिला मुख्यालय की हकीकत को परोसा गया है, मगर जब हमने बैतूल के हालात जाने तो हालात यहां भी बहुत गंभीर नजर आए

जानते हैं बैतूल की दशा-

हमारी टीम ने जब बैतूल जिले का भ्रमण किया तो पता चला कि यहां चप्पा-चप्पा रेत माफिया और खनिज माफिया की दुंदुभी बज रही है। कहीं कोई अधिकारी, नेता और बड़ा जनप्रतिनिधि इन्हें रोकने-टोकने को तैयार नहीं है। यहां सरेआम रेत का अवैध कारोबार एक कंपनी ठेकेदार सतीश जादौन अभिमन्यु सिकरवार के संरक्षण में भरपूर फल-फूल रहा है।
– सूत्र बताते हैं कि माइनिंग इंस्पेक्ट नागवंशी की संरक्षण में रेत के अवैध कारोबार का खेला खूब हो रहा है। इस कारण जिले की अनेक पावन नदियां माफिया के शिकंजे में आ गई हैं।

गुआड़ी खदान के हाल

– स्थानीय लोग खुलकर तो नहीं बताते मगर इस सरेआम गुआडी खदान में 4-5 पोकलेन से दिन रात नदियों का दोहन हो रहा है।
– यूं तो यह खेल सबकी निगाहों में है मगर खनिज माइनिंग अधिकारी मनीष पालेवाल शायद आंखें बंद बैठे होने से व्यवस्था पर बड़ा सवालिया निशान लग रहा है।

किन सवालों के घेरे में विभागीअधिकारी

– क्या अधिकारी मनीष पालेवाल द्वारा माइनिंग इंस्पेक्टर नागवंशी को इतना फ्रीडम हैकि जिले में चाहे कहीं भी अवैध रेत का कारोबार की खुली इजाजत दे सके।

– बैतूल जिले में अवैध डंपर का सरेआम काला खेल रेत कंपनी ठेकेदार सतीश जादौन जिले में मनचाहे ढंग से कैसे कर रहे।
– माइनिंग इंस्पेक्टर नागवंशी के साथ मिलकर स्टॉक की जप्ती दिखा कंपनी को रॉयल्टी दिला रहे, ताकि जिले में रेत का अवैध कारोबार चलने में आसानी हो।

अब सवाल आखिरी

-कौन रोकेगा बैतूल जिले में रेत के अवैध कारोबार?
– कुछ दिन पूर्व नवागत कलेक्टर ने पदभार ग्रहण किया है, लेकिन रेत के अवैध कारोबार की भनक शायद अभी उन तक नहीं पहुंचीहै।

– क्या मीडिया में खबरें आने नवागत कलेक्टर इसे संज्ञान मे लेकर जिले में रेत का अवैध कारोबार को रोकने का कदम उठाएंगे।


Hriday Bhoomi 24

हमारी एंड्राइड न्यूज़ एप्प डाउनलोड करें

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.